बेहतरीन फिल्म : संजू


फिल्म का नाम : संजू डायरेक्टर: राजकुमार हिरानी स्टार कास्ट: रणबीर कपूर, विक्की कौशल, दिया मिर्जा, मनीषा कोइराला, परेश रावल, बोमन ईरानी, अनुष्का शर्मा अवधि: 2 घंटा 41 मिनट सर्टिफिकेट: U/A राजकुमार हिरानी ने अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर आधारित फिल्म संजू लिखी और उसे डायरेक्ट किया. फिल्म का बजट लगभग 80 करोड़ रुपए बताया जा रहा है. खबरों के मुताबिक, फिल्म को भारत में लगभग 4000 स्क्रीन्स में रिलीज किया जा रहा है. वहीं विदेशों में लगभग 65 देशों में 1300 से ज्यादा स्क्रीन्स में रिलीज किया जाएगा. एक तरह से ये रणबीर और हिरानी की सबसे ज्यादा स्क्रीन यानि 5300 से ज्यादा स्क्रीन्स में रिलीज होने वाली फिल्म है. कहानी- फिल्म की कहानी शुरू होती है जब सुनील दत्त (परेश रावल) और नरगिस दत्त (मनीषा कोइराला) के घर में 21 साल के संजू (रणबीर कपूर) से शुरू होती है जो रॅाकी की शूटिंग कर रहा होता है. बचपन में बोर्डिंग स्कूल भेजा जाना, ड्रग्स की लत लगना, माता-पिता से कई बातें छुपाना, नरगिस की तबीयत खराब हो जाना, दोस्त कमलेश (विक्की कौशल) के साथ मुलाकात, फिल्म रॉकी से डेब्यू करना और उसके बाद कई फिल्मों में काम ना मिलना, रिहैब सेंटर में जाना, मुंबई बम धमाकों के साथ नाम जोड़ा जाना, कई बार जेल जाना और अंततः एक स्वतंत्र नागरिक के रूप में जेल से बाहर आना. इनके अलावा संजू के जीवन में क्या-क्या घटनाएं घटी, किस तरह से संजू का दोस्त कमलेश (विक्की कौशल), पत्नी मान्यता (दिया मिर्जा) अलग-अलग समय पर उनके खड़े रहे, ऐसी क्या परिस्थितियां थी कि संजय को ड्रग्स और बहुत सारी महिलाओं का सहारा लेना पड़ा, इन सभी घटनाओं को भी सिलसिलेवार तरीके से दिखाया गया है. राजकुमार हिरानी और अभिजात जोशी ने जिस तरह से फिल्म की पटकथा लिखी है वह काबिलेतारीफ है. फिल्म का डायरेक्शन अद्भुत है. खासतौर से इंटरवल के ठीक पहले का समय. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर, VFX, कास्टिंग कमाल की है. दिया मिर्जा, मनीषा कोइराला, बोमन ईरानी ने बढ़िया काम किया है. अनुष्का शर्मा का किरदार फिल्म में काफी दिलचस्प है. परेश रावल ने सुनील दत्त का किरदार बखूबी निभाया है. विक्की कौशल ने बहुत ही उम्दा अभिनय किया है. रणबीर कपूर जिन्हें पहले फ्रेम से लेकर के आखिरी फ्रेम तक देखें तो बिल्कुल भी नहीं लगता कि वह रॉकस्टार वाले रणबीर कपूर हैं. रणबीर ने पूरी तरह से संजय दत्त के किरदार में खुद को शत-प्रतिशत डाला है. रणबीर हंसाने के साथ-साथ रुलाते भी हैं. सिनेमेटोग्राफी, लोकेशन और फिल्म का संगीत, स्क्रीनप्ले के साथ साथ ही जाता है. फिल्म की रिलीज के बाद यह संगीत और ज्यादा फेमस होगा.

Back to previous page

2018-07-05Total Comments :

Similar Post You May Like