छत्तीसगढ़ का मिनी शिमला: मैनपाट


ज्यादातर लोग गर्मियों में शिमला, मनाली, लद्दाख और दार्जिलिंग जाना पसंद करते हैं. आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं. छत्तीसगढ़ के इस शहर को मिनी शिमला भी कहा जाता है. छत्तीसगढ़ के शहर मैनपाट को मिनी शिमला भी कहा जाता है. मैनपाट का टाइगर प्वाइंट एक खूबसूरत झरना है. यहां झरना इतनी तेजी से गिरता है कि शेर के दहाड़ने जैसी आवाज आती है. इस ऑफबीट डेस्टिनेशन में आप न सिर्फ अपनी छुट्टियां आराम से बिता सकते हैं बल्कि यहां आपको कुछ न कुछ जानने को भी मिलेगा. मैनपाट में आप आलू का पठार, शिमला जैसा मौसम, तिब्बतियों का बसेरा, हिलती हुई धरती, जमीन पर उमड़ते-घुमड़ते बादल का मजा ले सकते हैं. वहीं, यहां के मेहता प्वाइंट में घाटी का खूबसूरत नजारा भी देखने को मिलता है. इसके अलावा यहां का मछली प्वाइंट बेहद खूबसूरत जगहों में से एक है. मैनपाट शहर में एक ऐसी जगह है, जहां की धरती काफी नर्म है और यहां की धरती पर कूदने पर यह गद्दे की तरह हिलती है. किसी समय में यहां पर जलस्रोत हुआ करता था, जो ऊपर से सूख गया लेकिन अंदर जमीन दलदली रह गई. यह एक टेक्निकल टर्म लिक्विफैक्शन का उदाहरण है. वहीं, वैज्ञानिकों का मानना है कि पृथ्वी के आंतरिक दबाव और पोर स्पेस (खाली स्थान) में सौलिड के बजाए पानी भरा हुआ है. इसलिए यह जगह दलदली और स्पंजी लगती है. तिब्बत पर चीन के कब्जे के बाद भारत के पांच इलाकों के साथ तिब्बती लोगों ने मैनपाट पर भी अपना घर बसा लिया. यहां के मठ-मंदिर, लोग, खान-पान, संस्कृति सब कुछ तिब्बत के जैसी है. इसलिए इसे मिनी तिब्बत के नाम से भी जाना जाता है.

Back to previous page

2018-07-05Total Comments :

Similar Post You May Like